मन की शांति और दिल में सुकून चाहते हैं, तो यहाँ जरूर जाएँ

रोजमर्रा की जिंदगी में चल रही हलचलों से कुछ समय के लिए दूर होने की ख़्वाहिश रखना भला कौन नही चाहता, इसके लिए लगभग हम सभी तरसते हैं, ऐसे में दिल यही चाहता है कि दुनियां भर की उन तमाम उलझनों से खुद को कहीं शांत जगह पर ले जाया जाय जिससे दिलो-दिमाग को तसल्ली मिले, शरीर को एक नई ऊर्जा मिले, इसी सिलसिले में हम इस पोस्ट के ज़रिए आपको कुछ ऐसे खूबसूरत जगहों की यात्रा करने के बारे में बताने वाले हैं, जहाँ आप तो क्या आपकी अंतर आत्मा को भी सुकून भरा अनुभव महसूस होगा, तो आइए जानते हैं।


yoga-rishikesh-manali-shimla-manali
image source : tourmyindia.com

1. जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड के नैनीताल जिले में है, जो शायद देश के सबसे अच्छे राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है, यहाँ कुदरत की कुछ ऐसी नायाब चीजें हैं जो प्रकृति की आँचल में हरे भरे घटाओं से घिरा हुआ है जोकि पेड़, पौधों,  पक्षियों और जानवरो की विरासत है, यहां आप बाघ, तेंदुआ, जंगली हाथियों और अनगिनत सुंदर पक्षियों की एक विस्तृत  श्रृंखला को देख कर आप काफी तरो-ताज़ा फील करेंगे।

2. पुष्कर, राजस्थान

एक प्रतिष्ठित हिंदू तीर्थ वाला राजस्थान का शहर पुष्कर  पवित्र झील के पास बसा एक ऐसी जगह है, जहाँ हर किसी को अपनी लाइफ में कम से कम एक बार तो जाना बनता है,  इस जगह में दुनिया के सबसे कम पाए जाने वाले मन्दिरों में एक ब्रह्मा मंदिर हैं, साथ ही 400 से ज़्यादा पूण्य स्थान हैं, पुष्कर अपनी परम्पराओं और संस्कृति सुंदरता से समृद्ध है जो आपको मंत्रमुग्ध कर देगा।

3. धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा घाटी के ऊपरी हिस्से में स्थित, धर्मशाला एक छोटा सा खूबसूरत शहर है जोकि समुद्र तल से लगभग 1,475 मीटर की ऊंचाई पर है, यह जगह सुंदर देवदार के पेड़ों से घिरी हुई है, और इसमें कई शानदार जगहें हैं, और लोकेशन की बात करें तो यह बहुत ही शांत और सुकून भर है, यही बात इसे एक आदर्श यात्रा स्थल बनाती है।

4. अनंतपुर लेक मंदिर, केरल 

मित्रों अपने भी कभी शाकाहारी मगरमच्छ के बारे में तो सुना ही होगा, बता दें कि यह केरल में अनंतपुर लेक के मंदिर कैंपस में निवास करने वाले बबिया और उसके फैमिली के द्वारा जानकारी के अनुसार, डेढ़ सौ साल का मगरमच्छ इस मंदिर की हिफाज़त में अपना जीवन बिता रहा है, यहां तक जाने के लिए पुल के रास्ते जाना होगा, दरअसल यहां पहुंचकर आपको यह अहसास होगा कि आप किसी पुरानी दुनिया में आ गए हैं, यह मान्यता है कि ये मंदिर 9वीं शताब्दी में बनाया गया है, जोकि केरल का जिला कासरगोड में स्थित है।

5. थॉसेघर फॉल्स

यदि आप लोनावला या खंडाला गए हों, और थॉसेघर फॉल्स नहीं देखे तो फिर क्या देखे, वैसे तो यह जगह निहायत ही छोटे से खेड़े में है, रही बात वहां तक कैसे पहुँचा जाए, तो बता दें कि यह सतारा सिटी से 20 किलोमीटर की दूरी पर थॉसेघर फॉल्स है, जहाँ जाकर आप तैरने से लेकर मीठे झरने के पानी में मस्ती करने का ढेर सारा इंजॉय कर सकते हैं, यहां का वातावरण आपको बेहद पसंद आएगा, साथ ही ठंड हवाओं की लताफ़त आपके मिजाज़ को ख़ुशनुमा बना देंगी, रही बात यहाँ के माहौल की तो ये बिल्कुल शांति और सुकून से भरा है।

ये भी पढ़ें : नैनीताल जाने से पहले इन खूबसूरत वादियों के बारे में जान लें

6. मैवलेनॉन्ग विलेज

शयाद आपको विश्वास न हो मगर यह भारत का मात्र एक ऐसा गांव है, जो एशिया का सबसे स्वच्छ गांव माना जाता है, तो आइए हम बता ही देते हैं, दरअसल यह सारा क्रेडिट मैवलेनॉन्ग गांव केलोगों का है जिन्होंने इसे सफाई के मामले में सबको पीछे छोड़ रखा है, इस हरे कलर पूरे गांव को रंग दिया गया है, गांव को हरे रंग से कलर किया गया है, यहाँ नेचुरल ब्यूटी के साथ साथ आपको भरपूर शांति मिलेगी।

दोस्तों, इसके अलावा भी आप किसी शांत जगह के बारे में अगर जानते हो तो कृपया कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर बातएं साथ ही यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों  के साथ शेयर करना बिलकुल न भूलें।