एक यादगार सफर की शुरुआत यहाँ से करें, ज़िन्दगी भर नहीं भूल पाएंगे

दोस्तों अगर नहीं समझ पा रहे हैं, कि एक यादगार ट्रिप की स्टार्टिंग कहा से करें, तो इसमें हम आपकी थोड़ी सी हेल्प किये देते हैं, जिससे आप एक एडवेंचर भरे सफ़र का आनंद ले सकें, दरअसल लोगों की लोकप्रियता देखते हुए हम आपको हिमांचल प्रदेश के शोज़ा में एक खूबसूरत टूरिस्ट पॉइंट के बारे में बताने वाले हैं, इसकी यात्रा आप शुरू करेंगे तो एक से बढ़कर एक के रोमांचक जगहों को देखते हुए जब आप चोटी पर पहुंचेंगे तो हिमालय की बेमिसाल सुंदरता आपके चेहरे की चमक और बढ़ा देगी, वो न व्यक्त कर पाने वाली खुशी की लहर इस क़दर शरीर में दौड़ पड़ेगी की बस आप यही सोचेंगें की ये मेरे लिए दुनिया का सबसे अच्छा लम्हा है, एक अद्भुत अहसाह जो सिर्फ आप ही महसूस कर सकेंगे।

Travel | Himachal pradesh | Travelling Life |  Himalayan | Solo Tourist places | Tourism Spots

Jalori-Pass-Himachal-Pradesh-hp-uk
source : google image
शोज़ा की बात करें तो यह हिमाचल के सेराज की घाटी में स्थित है, जो जलोरी पास से इसकी दूरी तक़रीबन पांच किलोमीटर है, शोजा समुद्र तल से अपरोक्स 2368 मीटर की ऊचाई पर है, यह ख़ासकर उनके लिए, जिन्हें पहाड़ी वादियों से बेहद प्यार है, क्योंकि यहां जाना एक सफल ट्रिप हो सकता है, वैसे तो देश भर के तमाम टूरिस्ट स्पॉट है लेक़िन शोज़ा सबसे व्यस्त जगहों में से है, लेक़िन सिर्फ इतना ही नही बल्कि इसके अलावा भी कुछ ऐसी जगहें हैं, जो देखने लायक़ हैं तो आइये जान लेते हैं उन जगहों के बारे में।

1. जलोड़ी पास

Jalori-Pass-Himachal-Pradesh-hp
image source : travelswithreggie.com
यह कुल्लू के शिमला से लगभग 100 किमी दूरी पर पड़ता  है, जालोरी पास शहरी जिंदगी के शोर शराबे वाली हलचलों  से काफी दूर और बड़ा हिमालय है जहाँ का शांत वातावरण  दिल को सुकून देता है, और कुदरत के बनायी सुन्दर रंग बिरंगी दृश्यों को देखने का सुनहरा मौका मिलता है, लेक़िन जालोरी काफी ऊँचाई वाला पहाड़ी पास है, जो हिमाचल की करसोग घाटी में 10570 फीट (3223 मीटर) की ऊंचाई पर है, अब जो लोग रोमांच पसंद करते है उनके लिए तो ये जगह एकदम परफेक्ट है।

2. सेरोलसर झील

solsar-jheel-Himachal-Pradesh
image source : wahoeindia.com
यह छोटी झील जालोरी पास से खूबसूरत देवदार और ओक के जंगलों के बीच से गुज़रते हुए 6 किमी के ट्रैक द्वारा जाया जा सकता है, झील का पानी शीशे की तरह एकदम साफ सुथरा रहता है वही इसके पास में ही एक काफी पुराने समय का मंदिर भी हैं।

बताया जाता है कि यह मंदिर देवी बूढ़ी नागणी माता का है जो वहाँ के लोकल क्षेत्र वासियों द्वारा बड़ी श्रद्धा के साथ पूजा पाठ किया जाता है, वही जलोरी के नज़दीक इस मंदिर के ठीक बैक साइड में सेरोलसर झील तक जाने वाला रास्ता शुरु होता है, यहाँ गर्मियों के मौसम में पैदल जाने वाले टूरिस्ट यात्रियों की सुविधा और ठहरने के कई ढाबे मिल जाएंगे हैं, यह जालोरी जोत से दो से तीन घण्टे की दूरी पर है।

3. रघुपुर किला

धौलाधार पहाड़ी रेंज-Jalori-Pass-Himachal-Pradesh.
source : prabhasakshi.com
सेरोलसर झील जाने के लिए सबसे अच्छी जगह रघुपुर है जो 360 डिग्री घाटी के बेमिसाल नज़ारे का लोकेशन है, यह धौलाधार पहाड़ी रेंज तक फैला हुआ है, रघुपुर किले को  रघुपुर गढ़ के नाम से भी जानते है, यह जालोरी पास से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर है, ये किला खंडहर टाइप का है जहां बस कुछ ही दीवारें हैं जो बड़ी मुश्किल से खड़ी हैं।

रघुपुर किले का रास्ता एक बेहतरीन जंगल से होकर गुजरता  है, इस दौरान आपको पहाड़ों के शानदार नज़ारे देखने को मिलेंगे, जैसे ही उन घास के मैदानों तक पहुचेंगे, आप किले की अविश्वसनीय दृश्य देख सकते हैं यहाँ आपको हर तरफ खुला-खुला माहौल मिलेगा।

शोजा में वाटरफॉल स्पॉट एक ऐसी जगह है, जिसे देखने से आपको चूकना नहीं चाहिए, कुदरत की की गोद में मौजूद यह झरना बेहद खूबसूरत है, ये शोजा से ज़्यादा नही बस 1 किलोमीटर की दूरी पर मिल जएगा है, इसी वजह से लोग यहां सुबह के वक़्त सैर सपाटे के लिए भी निकल पड़ते हैं, इस झरने का पानी काफी मीठा और ठंडा बताया जाता है, अब जहां वाटर फॉल हो वहां टूरिस्ट की भीड़ तो पहुँचेंगे ही।

4. त्रिथान वैली

trithan-valli-Jalori-Pass-Himachal-Pradesh.
source : myboardmyblog.blogspot.com
अगर खोजा जाय तो इस दुनिया में कुछ ख़ास ऐसी जगहें हैं जो शांति और सुकून का एहसास कराती हैं, इस तरह की  जगहें आपको मॉडर्न, तेज़-तर्रार और भाग दौड़ भरी दुनिया से एक ठहराव का अहसास दिलाती हैं, जो आप में पहले की तुलना में फुर्त और एनर्जेटिक बनाकर फिर से तरो-ताज़गी से जीने का मौका देती हैं।

इन्हीं सब में से एक सबसे खूबसूरत स्थान है, त्रिथान घाटी जो कुल्लू के दक्षिणी छोर पर विराजमान है, अगर यूं कहा जाए तो धूमने टहलने या हिल स्टेशन तक जाने के लिए किसी वक़्त का मोहताज नही होना चाहिए और ना ही मौसम का जब जी चाहे निकल पड़िये और हमेशा तैयार रहना चाहिए।

हालांकि कुछ मौसम ऐसे है जिनमें हिल स्टेशन घूमने का अपना एक अलग ही मज़ा होता है, जैसे शोजा में घूमने का सबसे बेस्ट ऑप्शन है, गर्मियों में अप्रेल से अक्टूबर तक का महीना सही रहता है,

बात मुद्दे की वहाँ तक कैसे जाए :

रही अब मुद्दे की बात वहाँ तक कैसे पहुचा जाए, तो शोजा के लिए डायरेक्ट ना तो ट्रैन है और ना ही फ्लाइट आपको बस या फिर टैक्सी के सहारे ही जाना होगा।

रोड से : अगर आप रोड के ज़रिए के जाना चाहते हैं, तो आप हिमाचल के किसी भी सिटी, जैसे मनाली, कुल्लु या फिर शिमला पहुँचने तक की कोई बस करलें, इन शहरों में से आपको टैक्सी मिल जायेगी या फिर लोकल बस में बैठकर भी कर सस्ते में जा सकते हैं।

ट्रेन से : शोज़ा ट्रेन से पहुंचने के लिए सबसे क़रीबी रेलवे स्टेशन चंडिगढ़ है, इसके आगे आपको हिमाचल शिमला जाने वाली बसों में सफर कर सकते हैं।

फ्लाइट से : आना भी चाहें तो भुंतर एयरपोर्ट तक आ सकते हैं लेकिन इसके आगे के लिए आपको टैक्सी ही करनी होगी।

दोस्तों यह जानकारी आपको किसी लगी कॉमेंट बॉक्स में अपनी रॉय ज़रूर दें, साथ ही अगर यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ  शेयर करना बिल्कुल ना भूलें।

1 comment: